Home > India > कैश की किल्लत से ग्रामीण इलाकों में लोगों को उठानी पड़ी है ज्यादा परेशानी

कैश की किल्लत से ग्रामीण इलाकों में लोगों को उठानी पड़ी है ज्यादा परेशानी

cash crunch in india

डेस्क। देश में एक बार फिर नोटबंदी के बाद लोगों को कैश की किल्लत की समस्या उठानी पड़ रही है। शहरों से ज्यादा इसका असर ग्रामीण अंचल में देखा जा सकता है। छोटे कस्बों में मुश्किल से एक एटीएम मिलता है। वहां जब लोग पैसे निकलवाने पहुंचते है तो वो खाली हाथ वापस लोट रहे है।

 

अभी शादी का सीजन होने से पैसो की सबसे ज्यादा जरुरत है। बैंकों के पास 500 और 2000 का नोट गायब है। एटीएम के बाहर नोटबंदी के से हालत वापस बन गए। लोग लाइन बनाकर खड़े रहते है। इस समय ज्यादातर राज्यों में यही हालात है।विपक्ष ने इस मुद्दे पर सरकार की काफी आलोचना की है।

 

कैश की किल्लत के बाद रिज़र्व बैंक का कहना है कि बैंकों के पास पर्याप्त कैश है और चिंता करने की कोई ज़रूरत नहीं है। वहीं दूसरी तरफ रिज़र्व बैंक ने ये भी बताया कि नोट छापने का काम तेज़ कर दिया गया है। अब सबसे महत्वपूर्ण बात यह की इस कैश की किल्लत का क्या कारण है? क्या वाकई अब देश में फिर डिजिटल लेन-देन को छोड़ लोग वापस सामान्य लेन-देन करने लगे है।