Home > Sports > Cricket > टेस्ट में ऐसे तो 2000 से ज्यादा मैच हुए है लेकिन.. इन दो टेस्ट में जो हुआ वो इतिहास बन गया

टेस्ट में ऐसे तो 2000 से ज्यादा मैच हुए है लेकिन.. इन दो टेस्ट में जो हुआ वो इतिहास बन गया

First Ever Tied Test in Cricket History

First Ever Tied Test in Cricket History| वनडे और टी-20 में टाई मैच होना आम बात है.. विश्व कप 2019 के फाइनल मैच में इंग्लैंड और कीवी टीम के बिच मैच टाई हुआ था। इससे पहले भी कई बड़े मुकाबले टाई पर खत्म हो चुके है.. लेकिन क्या आपको पता टेस्ट क्रिकेट में भी दो बार मैच का परिणाम टाई पर रहा है। टेस्ट क्रिकेट का नतीजा टाई होना वाकई आश्चर्यचकित करने वाला है.. आज हम आपको उन दो मैचों के बारे में बताएंगे जिनके नतीजे टाई पर खत्म हुए.. पहली बार 1960 ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज के मैच मैच का परिणाम टाई रहा था। दूसरा टाई मैच 1986 में ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच खेला गया टेस्ट टाई रहा…

1. Australia vs West Indies 1960,First Tied Test Match 

First Ever Tied Test in Cricket

वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज में कोहली-रोहित आमने-सामने, जानिए आखिर क्यों?

आमतौर पर टेस्ट क्रिकेट का परिणाम हार-जीत से भी ज्यादा ड्रॉ रहता है। लेकिन 1960-61 में वेस्टइंडीज ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर गई थी। ब्रिस्बेन के मैदान पर टेस्ट मैच अंत ऐसा हुआ कि हर कोई हैरान रह गया। क्योकि ये टेस्ट क्रिकेट इतिहास के लिए एक नए इतिहास का गवाह बना। मेहमान टीम विंडीज ने पहले खेलते हुए पहली पारी में 453 रन बनाए। जबाब में ऑस्ट्रेलिया टीम ने 505 रन बनाए। वहीं वेस्टइंडीज ने अपनी दूसरी पारी में 284 रन बनाए। अब मेजबान ऑस्ट्रेलिया को टेस्ट जीतने के लिए 233 रनों की जरुरत थी। आसान जीत की तरफ बढ़ रही ऑस्ट्रेलिया टीम को अंतिम ओवर में 6 रनों की जरुरत थी, उनके तीन बल्लेबाज़ बाकी थे। लेकिन उस दिन अंतिम ओवर में जो ड्रामा हुआ वो इतिहास बन गया। और अंतिम ओवर में बाकी तीन खिलाड़ी 5 रन बनाकर आउट हो गए। ऐसे में दोनों टीमों के बिच यह मैच टाई पर खत्म हुआ। यह क्रिकेट इतिहास का पहला टाई मैच था…     

टेस्ट क्रिकेट के पहले टाई मैच का स्कोरकार्ड:

वेस्टइंडीज (पहली पारी) – 453/10 (गेरी सोबर्स- 132)

ऑस्ट्रेलिया (पहली पारी) – 505/10 (नॉर्म ओनील- 181)

वेस्टइंडीज (दूसरी पारी) – 284/10 (फ्रैंक वार्रेल्ल- 65)

ऑस्ट्रेलिया (दूसरी पारी) – 232/10 (एलन डैविडसन- 80)

2.India vs Australia 1986, 2nd Tied Test Match

यह बात है उन दिनों की जब क्रिकेट में वेस्ट इंडीज के युग का पतन और ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम का बोलबाला शुरू हुआ था। तमाम क्रिकेट खेलने वाले देश ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाज़ी आक्रमण से खौफ खाते थे। उसी दौरान ऑस्ट्रेलिया टीम इंडिया के दौरे पर आई थी। सीरीज के पहले टेस्ट में जो हुआ वो आज तक भी लोगों को आज तक याद है। यह क्रिकेट इतिहास का दूसरा टेस्ट था जो टाई हुआ था। चलिए हम बताते है आपको उस मैच के बारे में.. पहले खेलते हुए कंगारू बल्लेबाज़ों ने अपनी धाक दिखाई और स्कोर को 500 के पार पहुंचाया। डीन जॉन के दोहरे शतक की बदौलत टीम ने पहली पारी में 574 रन बनाकर घोषित की। जबाब में मेजबान टीम इंडिया पहली पारी में मात्र 397 रन बना पाई। उसमें भी कपिल देव अगर अंतिम समय में शतक ना लगाते तो टीम को फॉलो-ऑन लग जाता। लेकिन कपिल देव की साहसी पारी से टीम ने सम्मानजनक स्कोर बना दिया। मैच में ड्रामा उस समय शुरू हुआ जब ऑस्ट्रेलिया के कप्तान एलेन बॉर्डर ने अपनी दूसरी पारी मात्र 170 पर घोषित कर दी।

अंतिम दिन टीम इंडिया को 87 ओवर में 343 रनों की जरुरत थी। जो बिलकुल बहुत मुश्किल लक्ष्य माना जा रहा था, लेकिन भारतीय बल्लेबाज़ों ने उस दिन कंगारू गेंदबाज़ों की जमकर धुनाई कर दी। एक समय अंतिम ओवर अंतिम पांच ओवर मात्र 17 रनों की जरुरत थी..लेकिन तभी भारतीय टीम को तीन बड़े-बड़े झटके लगे और अंतिम ओवर में 4 रनों की जरुरत थी एक विकेट बचा था। क्रिकेट फैन्स की उस समय धड़कन रुक गई जब दो गेंद पर एक रन की जरुरत थी.. ऐसे में सभी ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी 30 गज के घेरे में थे। और गेंदबाज़ी की गेंद सीधे बल्लेबाज़ के पैड से टकराई और अंपायर ने अंगुली उठा दी। ऐसे में ये टेस्ट टाई पर खत्म हुआ..

टेस्ट क्रिकेट का दूसरा टाई मैच का पूरा स्कोरकार्ड:

ऑस्ट्रेलिया (पहली पारी) –  574/7 घोषित (डीन जोंस 210)

इंडिया (पहली पारी) – 397/10 (कपिल देव -119)

ऑस्ट्रेलिया (दूसरी पारी) – 170/5 घोषित (डेविड बून- 49)

इंडिया (दूसरी पारी) – 347/10 (सुनील गावस्कर- 90)