Home > Strange > साँपों के देवता ”गोगाजी” से जुड़ी ये बातें जानकर रह जाएंगे दंग

साँपों के देवता ”गोगाजी” से जुड़ी ये बातें जानकर रह जाएंगे दंग

goga navami gogaji ki story

डेस्क। गोगा नवमी के दिन राजस्‍थान के लोकदेवता के रूप में गोगा जी की पूजा की जाती है। इस दिन जाहरवीर गोगाजी का जन्मोत्सव बड़े ही हर्षोल्लास से मनाया जाता है। इस लोकदेवता को हिन्दू-मुस्लिम समुदाय के लोग पूजते है। यह स्थान हिंदू और मुस्लिम एकता का प्रतीक है।goga navami gogaji ki story

 

राजस्थान के हनुमानगढ़ में स्थित गोगामेड़ी में भादों शुक्लपक्ष की नवमी को गोगाजी देवता का मेला लगता है। वीर गोगाजी गुरुगोरखनाथ के परमशिष्य थे। उनका जन्म विक्रम संवत 1003 में चुरू जिले के ददरेवा गाँव में हुआ था। श्रीगोगादेव का जन्म नाथ संप्रदाय के योगी गोरक्षनाथ के आशीर्वाद से हुआ था।

 

गोगाजी को साँपों के देवता के रूप में पूजा जाता है। लोग उन्हें गोगाजी चौहान, गुग्गा, जाहिर वीर व जाहर पीर के नामों से पुकारते हैं। यह गुरु गोरखनाथ के प्रमुख शिष्यों में से एक थे। यहां प्याज का भोग लगाया जाता है। सालाना लगने वाले इस मेले में लाखों लोग गोगाजी के दर्शन करने आते है।