Home > India > जन्माष्टमी 2018: इस दिन पड़ रही है जन्माष्टमी, जानिए शुभ मुहूर्त, पूजा विधि..

जन्माष्टमी 2018: इस दिन पड़ रही है जन्माष्टमी, जानिए शुभ मुहूर्त, पूजा विधि..

Krishna Janmashtami 2018 Date

डेस्क। जन्माष्टमी का पर्व पुरे देश में बड़े धूमधाम से मनाया जाता है। इसके लिए लोगों ने इसकी तैयारियां अभी से शुरू कर दी है। मथुरा नगरी में असुरराज कंस के कारागृह में देवकी की आठवीं संतान के रूप में भगवान श्रीकृष्ण भाद्रपद कृष्णपक्ष की अष्टमी को पैदा हुए।जन्माष्टमी का यह पर्व भारत के साथ नेपाल, श्रीलंका, अमेरिका, ब्रिटेन आदि देशों में भी बड़े उल्लास के साथ हिन्दू लोग बहुतायत मात्रा में मानते है।

जन्माष्टमी स्पेशल: भारत की वो दरगाह जहां मुस्लिम समुदाय के लोग धूमधाम से मनाते है जन्माष्टमी

Krishna Janmashtami 2018 Date

जन्माष्टमी 2 को मनाएं या 3 को:

इस बार जन्माष्टमी के मुहूर्त को लेकर लोगों में संशय बना हुआ है। कान्हा जी का यह पर्व 2 तारीख को मनाए या तीन तारीख को मनाया जाए। तो आपको बताते है कि जन्माष्टमी के लिए शास्त्रों में स्पष्ट रूप से वर्णन है। श्री कृष्ण का जन्म अष्ठमी तिथि, रोहिणी नक्षत्र और वृष के चंद्रमां में रात्रि 12 बजे हुआ था। इस बार यह योग 2 सितम्बर रात्रि 12 बजे प्राप्त होता है। जहां पर ये तीनों योग मिल रहे है।

जन्माष्टमी 2018: इस बार जन्माष्टमी पर सुनें ‘कान्हा’ जी के सुपर हिट भजन

पूजन विधि:

1. जन्माष्टमी के दिन जागरण, भजन, कथा और जाप करें।
2. कान्हा जी के जन्म उत्सव को रात 12 बजे मनाए। मिश्री माखन का भोग लगाए।
3. भगवान कृष्ण का दूध से अभिषेक करके पूजा करें।
4. बांसुरी, मोरपंख, वस्त्र, फल, रोली, कुमकुम आदि को पूजा सामग्री में शामिल करें।
5. इस दिन उपवास का भी बड़ा महत्व होता है।

– आचार्य लवलेशानंद शुक्ल

 जन्माष्टमी पर इन चार राशियों के लिए बन रहा है कई सालों बाद यह विशेष योग..