Home > Business > बैंकों में जमा होने वाली रकम में भारी गिरावट, लोगों का उठा विश्वास!

बैंकों में जमा होने वाली रकम में भारी गिरावट, लोगों का उठा विश्वास!

last 55 years banks deposit amount lowest

डेस्क। नोटबंदी के बाद लोगों ने लाइन में लगकर अपने पैसे दो-दो हज़ार तीन-तीन हज़ार करके निकलवाए थे। उसके बाद बैंकों में बाद तकरीबन 86 फीसदी नकदी बैंकों में पहुंची थी। लेकिन बैंकों में हुए घोटालों के बाद से लोगों का बैंकों से मोहभंग हो गया है।

 

बैंक फिक्सड डिपोजिट ग्रोथ रेट पिछले 55 सालों में सबसे निचले स्तर पर चली गई है। RBI द्वारा जारी की गई रिपोर्ट के अनुसार मार्च 2018 को खत्म हुए वित्त वर्ष में बैंक में लोगों ने 6.7 फीसदी की दर से पैसे जमा किए जो 1963 के बाद सबसे कम है। ग्रामीण इलाकों में बैंकों के कर्मचारियों के व्यवहार का भी फर्क इसमें साफ़ दिखाई पड़ता है। हाल ही में बैंकों में कैश की कमी चल रही है। जिसका भी असर बैंकों की साख पर जरूर पड़ता दिखाई पड़ रहा है।

 

रिपोर्ट के अनुसार नोटबंदी के बाद जो पैसा बैंकिंग सिस्टम में आया था, वह अब निकल चुका है। साथ ही पिछले सालों में हुए बैंकिंग घोटालों के बाद से लोग काफी डर गए हैं और उन्होंने फिक्स्ड डिपॉजिट से पैसे को म्यूचुअल फंड और शेयर बाजार में निवेश कर दिया।