Home > Business > आम नागरिक का सवाल ..आखिर कहां तक जाएंगे पेट्रोल-डीजल के दाम

आम नागरिक का सवाल ..आखिर कहां तक जाएंगे पेट्रोल-डीजल के दाम

petrol prices

डेस्क। देश में कैश की किल्लत के बाद अब लोगों के लिए डीजल और पेट्रोल की बढ़ती कीमत एक बहुत बड़ी समस्या बन रही है। अगर पेट्रोल और डीजल के भाव की बात करें तो यह पिछले पांच साल में सबसे ज्यादा हो गई है। इसके दामों में फिलहाल कोई कमी के आसार दिखाई नहीं पड़ रहे है।

petrol prices

अब आम नागरिक की जिन्दगी में तेल के दाम असर डालने लग गए है। चाहे वो स्कूटर, बस, गाड़ी, टैक्सी किसी भी साधन से सफर क्यों ना करें उसकी पॉकेट पर इसका असर पड़ रहा है। पेट्रोल और डीजल की बढ़ती रेट की मुख्य वजह अंतरराष्ट्रीय मार्केट में कच्चे तेल की बढ़ती कीमत है।

 

पेट्रोल और डीजल के दाम हर दिन बदलते हैं। अगर क्रूड ऑयल की कीमत बढ़ती है तो इसके भाव बढ़ते है और अगर घटती है, तो यह भाव सस्‍ते होते जाते हैं। कच्चे तेल के दाम 2014 के बाद अब तक सबसे ज्यादा है। क्रूड का भाव 73 डॉलर प्रति बैरल के पार पहुंच गया है।